atal pension yojana hindi

क्यों जरूरत है अटल पेंशन योजना की ?( Kyun jrurt hai atal pension yojana ki? )

बड़ी कंपनियों के अधिकारी, बड़े उद्योगपति, सरकारी नौकरी वाले व्यक्ति हर तबके के लोगों को अपने बुढ़ापे में आर्थिक सहायता चाहिए होती है। हर किसी को यही लगता है कि अगर उनकी जिंदगी में अचानक से कोई दुर्घटना हो गई, या अचानक से कोई बीमारी हो गई तो उनके पास पैसे कहां से आएंगे। इस समस्या को कम करने के लिए बहुत अलग अलग तरह की पेंशन योजनाएं चलाई गई हैं। पर हर इंसान इतना अमीर नहीं है कि वह अपनी जिंदगी भर के लिए पैसा इकट्ठा कर सकें, इसलिए आम नागरिक जो बहुत अमीर नहीं है उनके लिए अटल पेंशन योजना ( atal pension yojana )बनाई गई है। यह इस योजना में आप आसानी से अपने बुढ़ापे के लिए आर्थिक बचत कर सकते हैं। ऐसा करने से आप बुढ़ापे में आर्थिक रूप से सुरक्षित रहेंगे।

atal pension yojanaकैसे करें अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन ( Kaise krein  atal pension yojana k liye aavedan )

जो आवेदक अटल पेंशन योजना का लाभ उठाना चाहता है उसे अटल पेंशन योजना  का फॉर्म भरना होगा। इस फॉर्म में बैंक का अकाउंट नंबर, उत्तराधिकारी की जानकारी, यदि आप शादीशुदा हैं तो आपके जीवनसाथी की जानकारी देनी होती है। इसके साथ साथ आवेदक को बैंक को ऑथोरिसशन लेटर पर साइन करके देना होता है। ताकि बैंक इस योजना के लिए फॉर्म आगे दे सकें।

जो आवेदक इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें यह सुनिश्चित करना होता है कि वह कितनी पेंशन का प्लान करना चाहते हैं। उनके खाते में कम से कम उतने का बैलेंस मेंटेन रहे जितने की उनका पेंशन प्लान है।
ऐसा इसलिए है अगर आवेदक अपनी किश्तें नहीं भर पाए तो इस पेंशन योजना के नियम के अनुसार आवेदक को जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। जिसका विवरण नीचे दिया गया है, कि किस तरह के पेंशन प्लान पर आपको कितना जुर्माना लग सकता है।  penalty for atal pension yojana

– इस योजना के तहत यदि आप हर महीने 100 रुपए की किश्त भर रहे हैं तो आपको एक रुपए का जुर्माना लगेगा।

– यदि आप हर महीने 101 रुपए का भुगतान कर रहे हैं तो आपको दो रुपए का जुर्माना लगेगा।

– यदि आपकी हर महीने की किश्त 501 रूपए है तो आपको ₹5 का जुर्माना लगेगा।

– यदि आपकी हर महीने की किश्त 1001 रूपए है तो आपको ₹10 का जुर्माना लगेगा।

अटल पेंशन योजना का लाभ उठाने के लिए योग्यता।  ( atal pension yojana ka labh uthane ke liye yogyta )

हर वो भारतीय व्यक्ति जो 18 से 40 साल की उम्र के बीच का है इस योजना का लाभ उठा सकता है। उन्हें कम से कम 20 साल तक किसी योजना में निवेश करना होगा। निवेश करने के बाद वे पेंशन का लाभ उठा सकते हैं। जो व्यक्ति पहले से वैधानिक योजना में लाभ ले रहा है, वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते ।

स्वावलंबन योजना के धारक अपने आप ही अटल पेंशन योजना में सम्मिलित हो जाएंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्वावलंबन योजना को भारत में ज्यादा सफलता नहीं मिली थी आवेदक 60 साल की उम्र में ही पेंशन का लाभ ले सकते हैं। उससे पहले यह पेंशन नहीं ले सकते हैं।

व्यक्ति का कोई बैंक अकाउंट नहीं है तो उसे इस योजना का लाभ उठाने के लिए पहले अपना बैंक में खाता खुलवाना होगा। बैंक में खाता खुलवाने के लिए उन्हें आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। बैंक में खाता खुलवाते समय व्यक्ति को ID प्रूफ , आधार कार्ड, राशन कार्ड जैसे डाक्यूमेंट्स जमा कराने होंगे। इसके अलावा उन्हें एक ऐसे व्यक्ति का सहारा लेना होगा जिसका पहले से ही उस बैंक में खाता हो। उसके बाद ही वे अटल पेंशन योजना का लाभ उठा सकते हैं।

अटल पेंशन योजना के जरूरी मुद्दे ( atal pension yojana ke jruri mudde )

अटल पेंशन योजना के नियमों के अनुसार यदि आवेदक 6 महीने तक लगातार किश्त लगातार ना भरे, तो उनका खाता सील कर दिया जाएगा। अगर आवेदक ने पूरे साल भर अटल पेंशन योजना की किश्त नहीं भरी है, तो उसका खाता निष्क्रिय किया जा सकता है। अगर 2 साल तक लगातार आवेदक में एक भी किश्त नहीं भरी है, तो उसका खाता हमेशा के लिए बंद कर दिया जाएगा।

यदि आवेदनकर्ता एक बार अटल पेंशन योजना के साथ जुड़ गए हैं, तो वह कभी भी साधारण स्थिति में इस योजना से हट नहीं सकते। यदि इस योजना के दौरान ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाए, कि आवेदनकर्ता की मृत्यु हो जाए तो इस योजना के पैसे nominee को दिए जा सकते हैं।

अटल पेंशन योजना के अनुसार यदि आवेदन कर्ता की मृत्यु हो जाती है तो सारे पैसे का उत्तराधिकारी उसका जीवन साथी होगा पर यदि किसी कारणवश जीवनसाथी की भी मृत्यु हो जाती है तो सारे पैसे nominee को मिल सकते हैं।