Dil Todne Wali Shayari Hindi

ऐसा कहा जाता है कि जहां प्यार होता है वहां झगड़ा भी होता है। इसलिए प्यार वाली जगह में रुठना मनाना चाहता रहता है। तो आज हम आपके लिए कुछ ऐसे ही शायरियां लेकर आए हैं। कहते हैं कि अगर आप से कोई नाराज है तो उसे मनाने के लिए आपको उसे सॉरी बोलना पड़ेगा। उसे माफी मांगना पड़ेगा और माफी मांगने का भी अंदाज थोड़ा अलग हो तो वह जल्दी मान जाएगा और उसे बहुत अच्छा भी लगेगा। इसीलिए कुछ नए अंदाज में हम आपके लिए शायरी लेकर आए हैं। ताकि आप अपने रूठे हुए प्यार को मना सके। सॉरी आप सिर्फ अपने प्यार से नहीं बल्कि अपने भाई, बहन, मां, बाप दोस्त और करीबी लोगों से मांग सकते हैं। जरुरी नहीं कि आप सिर्फ सॉरी की शायरी अपने प्यार को ही सुनाए बल्कि आप अपने मां बाप या जो भी करीबी लोग हैं उनको भी सुना सकते हैं। और यह सॉरी मांगने का अंदाज हम दावा करते हैं कि उसको जरुर पसंद आएगा। वह झट से आप को माफ कर देगा और आपके बीच में जो भी दूरियां आए हैं वह सब खत्म हो जाएंगे।

जहां प्यार है वहां रुठना मनाना तो लगा रहता है,
इसी की वजह से आपसे प्यार बढ़ता रहता है, कहकर सॉरी बढ़ा लो नज़दीकियां , झटके में मिटा दो इतने दिन से आई हुई दूरियां।
Sorry my love

Dil Todne Wali Shayari Hindi

हमसे यू न यूं रूठ जाइए,
हुई गलती हमसे पर आप मान जाइए,
हमसे यूं ना दूर जाइए,
खामोश हो करना हमको न सताइए
बस एक बार आप मुस्कुराइए

सॉरी j…u

मेरा यार हमसे रूठ कर दूर बैठा है कहीं,
उसकी याद में मेरा दिल तड़प रहा है कहीं,
जाओ कोई उनसे हमारी खता पूछ कर आओ,
जिंदगी भर इंतजार करेंगे बैठ कर हम यही।

अपने गुस्से भरी नजरों से वह दूर से हमें निहारते है,
ना जाने क्यों हमसे खफा से वह लगते हैं,
हम खुद नहीं जानते कि गलती से क्या गलती कर बैठे हैं
हम तो अपनी हर सांस से भी ज्यादा उसे प्यार करते हैं

दिल रो रहा है तेरे दूर जाने से,
क्यों नहीं आता तू मेरे बुलाने से,
माफी मांग लूंगी मैं तुझसे,
तू एक बार तो आ जा किसी बहाने से।

भूल हो गई मेरे प्रियतम,
मान भी जा मेरे सनम,
एक बार तो हमें प्यार से निहार ले,
दोबारा नहीं करेंगे यह गलती तेरी हे कसम।

जिसकी खुशियों के लिए हमने खुद को अलग कर दिया दुनिया से,
आज वह हमसे नाराज नजर आ रहे हैं,
ऐसा भी क्या गुनाह हो गया हमसे
एक बार तू सजा तो सुना,
हम वह भी सह लेंगे तेरी कसम से

 

मिलने गए आज हम उससे,
पर वो खफा सा नजर आया है,
हमने कही बहुत सी अपने दिल की बातें,
पर उसने नजर से नजर ना मिलाया है।

चांद तो हम से कोसों दूर है,
पर उफ़ तेरी अदा है,
रुठा हुआ तो बड़ा प्यारा लगता है,
बड़ा प्यारा लगता है,
हमको जो तेरे चेहरे पर नूर है

काश हम रुठे हुए को मना पाते,
काश तुम हमारे बेचैनी को समझ पाते,
तेरी याद हमें इस कदर तड़पा रही है,
काश हम तेरे ख़यालों को पढ़ पाते

तुम्हारे ऊपर ऐसा शब्दों का जाल बून दिया,
परंतु दिल में ऐसी कोई बात नहीं थी।
खुद शर्म आ रही है अपने अल्फाजों के लिए
क्योंकि मुझे खुद से ऐसी कोई उम्मीद ना थी।

मुझसे कोई मेरा करीबी बहुत नाराज था,
इसलिए आज मेरा दिल बहुत उदास था,
बहुत बहलाया मैंने अपने मन को,
पर जब मुड़कर देखा तो कोई ना आस-पास था।

error: Content is protected !!