shayari

dil todne wali shayari

चांद तो हम से कोसों दूर है,
पर उफ़ तेरी अदा है,
रुठा हुआ तो बड़ा प्यारा लगता है,
बड़ा प्यारा लगता है,हमको जो तेरे चेहरे पर नूर है

dil todne wali shayari
dil todne wali shayari

काश हम रुठे हुए को मना पाते,
काश तुम हमारे बेचैनी को समझ पाते,
तेरी याद हमें इस कदर तड़पा रही है,
काश हम तेरे ख़यालों को पढ़ पाते

तुम्हारे ऊपर ऐसा शब्दों का जाल बून दिया,
परंतु दिल में ऐसी कोई बात नहीं थी।
खुद शर्म आ रही है अपने अल्फाजों के लिए क्योंकि मुझे खुद से ऐसी कोई उम्मीद ना थी।

मुझसे कोई मेरा करीबी बहुत नाराज था,
इसलिए आज मेरा दिल बहुत उदास था,
बहुत बहलाया मैंने अपने मन को,
पर जब मुड़कर देखा तो कोई ना आस-पास था।

Leave a Comment