बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ योजना Beti padhao beti bachao yojna

बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ योजना (Beti padhao beti bachao yojna)

आपको तो पता ही है कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 में यह एक बड़ी योजना पानीपत हरियाणा में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना लागू की गई। आप सब को पता ही है कि हमारे भारत की आबादी बड़े जोर के साथ बढ़ती जा रही है हमारे दुर्भाग्य की बात है तो यह है कि जो जनसंख्या बढ़ रही है उस में लड़कियों की कमी होती जा रही है। दिनों दिन लड़कियां कम हो रही हैं। जो 2001 में गणना हुई थी उस गणना के अनुसार 1000 लड़कों में केवल 927 लड़कियों की जनसंख्या थी। अब 2011 में 918 हो गया है अगर इसी तरह चलता रहा तो कुछ ही दिनों में या कुछ वर्षों में ही ऐसी जनसंख्या कम होती रही तो इस अपराध के कारण ही एक दिन हमारा देश अपने आप ही नष्ट होने की स्थिति में आ जाएगा। इस अपराध के कारण ही यह योजना प्रधानमंत्री द्वारा लागू की गई है। लोगों को जागरुक बनाने के लिए ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की योजना शुरु की गई है।

क्या है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का मुख्य उद्देश्य (Kya hai beti bachao beti padhao ka mukhya udyeshya)

इसका उद्देश्य यह है कि हमें कन्या भ्रूण हत्या को रोकना चाहिए। कन्या भ्रूण हत्या रोकने वाले का साथ भी देना चाहिए। कन्या भ्रूण हत्या एक बहुत ही बड़ा अपराध और पाप है। हम इस अपराध को रोककर देश को नष्ट होने से बचाया जा सकता है। हमें इस दिशा में लोगों को जागरुक करना चाहिए। क्योंकि हमारे देश में बेटियों का आंकड़ा गिर रहा है हमें बेटियों की सुरक्षा करनी चाहिए ल। आए दिन छेड़छाड़ बलात्कार जैसे अपराध दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। जिसकी कोई सीमा ही नहीं है। इन अपराधों को नियंत्रित करने के लिए अहम निर्णय लिए गए हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली अपने बजट से बेटियों को पढ़ने और बचाव के लिए 100 करोड़ राशि की शुरुआत की है।

 

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाएं (Beti bachao aur beti padhao yojna ke antargat di jaane vali suvidhayen)

क्योंकि आपको पता ही है कि हमारे देश की महिलाएं किसी भी कोने में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं। इसलिए उनको सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए गए हैं। जिसके लिए 50 करोड़ रुपए का फंड दिया जाएगा। जिसमें महिलाओं के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जाएगी।

अलर्ट बटन alert button
इस अलर्ट बटन के जरिए महिला अपनी संदेश यानी कि वॉइस मैसेज इमेजेस और कई चीजें भेज सकती है ताकि उन को सुरक्षा प्रदान की जा सके।

संकट प्रबंधन केंद्र( sankat prabndhan kendr)

अगर महिलाओं को कोई भी असुविधा हुई तो इस स्थिति में उचित कार्यवाही संकट प्रबंधन की सुविधा दी जाएगी। ये संकट प्रबंधन की जिम्मेदारी है।

जागरूकता (jagrukta)

सरकार हम महिलाओं को सुविधा दे रही है हमें जागरुक कर रही है हम अपनी बेटियों को बचाएं और बेटियों को पढ़ाए। हमें आगे भी जागरूक होना है। हम अपनी बेटियों को पढ़ाएं हमारे देश में बेटियों की कमी है हमें अपना देश बेटियों से हरा-भरा करना है। प्रधानमंत्री द्वारा इन्हें सुरक्षा मांगने पर सुविधा दी जाएगी। हम जागरुक हो और बेटियों को भी जागरुक करें। यह योजना बेटियों की सुरक्षा के लिए ही शुरू किया गया है। हमारे देश में महिलाएं सुरक्षित नहीं है इसलिए यह योजना जरूरी है।

 

हमारे प्रधानमंत्री तो विशेष योजना बनाई हैं। और लागू भी की गई है। लेकिन हमारी जनता उस पर कितना ध्यान दे रही है या नहीं यह तो जनता को पता है। इस दिशा में कई भी उपयुक्त कामं किए जा रहे हैं। कई विज्ञापन,स्लोगन, इन पोस्टर बनाए रहे हैं। जिस कारण से हमारे देश की बेटियां बचाओ बेटी पढ़ाओ का लक्ष्य हांसिल करना है।

जनता की जागरूकता( janta ki jaagrukta

बेटियों को बचाना हमारे देश वासियों का कर्तव्य है इन्ही इनका पूरा ध्यान देना चाहिए। पढ़ाई में उनकी मदद करनी चाहिए। बेटियों की पढ़ाई भी जरुरी है हम सब को मिल-जुलकर बेटियों की रक्षा करनी है इन्हें आगे बढ़ाना है। इनसे ही हमारा देश बढ़ेगा। बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए एकता बनाए। बेटियों की सुरक्षा के लिए जागरूक होना जनता को जरूरी है। जो भी घिनोनें अपराध बढ़ रहे हैं उनको भी नियंत्रित करने के लिए सरकार अहम निर्णय लिए हैं। अलर्ट बटन के जरिए महिलाओं का संदेश भी सुना जाएगा और इन्हें सुविधा भी दी जाएगी। ये सब हम विश्वास के साथ ही सब कुछ कर सकते हैं। हम अपनी बेटियों को बचाएं और पढ़ाएं। सरकार द्वारा अगर बेटियों को पढ़ाएंगे तो उन्हें बढ़ाएंगे।